राजीव सिन्हा

राजीव सिन्हा

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय से हिंदी साहित्य में एम. ए. और एम. फिल. करने के पश्चात् दिल्ली में अध्यापन . साहित्य के अतिरिक्त भारतीय इतिहास और संस्कृति में विशेष रूचि

3
आपके विचार

avatar
3 टिप्पणी सूत्र
0 टिप्पणी सूत्र के उत्तर
0 फॉलोअर
 
सर्वाधिक प्रतिक्रिया वाली टिप्पणी
सर्वाधिक लोकप्रिय टिप्पणी सूत्र
3 टिप्पणीकर्ता
Mukesh Devraniआनंदशोभित गुप्ता हालिया टिप्पणीकर्ता
  सब्सक्राइब करें  
सबसे नया सबसे पुराना सबसे ज्यादा वोट वाला
सूचित करें
शोभित गुप्ता
अतिथि
शोभित गुप्ता

जबरदस्त

आनंद
अतिथि
आनंद

मजा आ गया पढ़कर। आसपास की सामान्य घटनाओं को रोचकता के धागे में पिरोकर लेखक ने पाठकों को सम्मोहित किया। शानदार, लाजवाब।

Mukesh Devrani
अतिथि
Mukesh Devrani

एकतरफा प्यार में घायल मनोदशा का अच्छा वर्णन।स्त्री के आदरयुक्त प्रेम को प्रणय का आश्वाशन समझने की भूल करने वाले प्रोफ़ेसर के बहाने पुरुष मानसिकता की परतो को खोलने वाली कहानी।

कॉपी नहीं शेयर करें !
%d bloggers like this: