हस्तक्षेप – श्रीकांत वर्मा

कोई छींकता तक नहीं इस डर से कि मगध की शांति भंग न हो जाए, मगध को बनाए रखना है, तो, मगध में शांति रहनी ही चाहिए मगध है, तो शांति है कोई चीखता तक नहीं इस डर से कि मगध की व्‍यवस्‍था में दखल न पड़ जाए मगध में व्‍यवस्‍था रहनी ही चाहिए मगध […]

आगे पढ़ें