One Comment

  1. Sid
    July 9, 2018 @ 3:36 pm

    बहुत बहुत बगत सटीक समीक्षा। इस तरह से तो लेखक भी न सोच पाए होंगे जैसा आपने लिख दिया। बेहतरीन।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यू पी एस सी - हिन्दी साहित्य कोचिंग के लिए संपर्क करें - 8800695993-94-95 या और जानकारी प्राप्त करें